Share

घाटकोपर के रिहायशी इलाके में घटना से इलाके में अफरा-तफरी का माहौल

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई. मायानगरी मुंबई के घाटकोपर इलाके में एक चार्टर्ड विमान क्रैश हो गया है। इस हादसे में पायलट समेत 5 लोगों की मौत हो गई है। मिली जानकारी के अनुसार, मरने वालों में 2 पायलट के अलावा 2 टेक्नीशियन और एक राहगीर शामिल है। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर फायर ब्रिगेड की टीम पहुंची और आग बुझाने का काम शुरू कर दिया। विमान के एक निर्माणाधीन बिल्डिंग से टकराने के बाद आग लग गई, जिसके बाद पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये दुर्घटना मुंबई के घाटकोपर में रिहायशी इलाके में हुई है। इस विमान दुर्घटना के कारणों का अभी तक खुलासा नहीं हो पाया है। बहरहाल, प्लेन का ब्लैक बॉक्स बरामद कर लिया गया है, जिससे अब पता चल सकेगा कि इस दुर्घटना के पीछे कारण क्या रहा। पूरा Video देखिए यहां…

हो रही थी बारिश…

चश्मदीदों की मानें तो प्लेन हवा में क्रैश होने के साथ ही सड़क पर गिरा और घसीटते हुए एक निर्माणाधीन बिल्डिंग से जा टकराया। हादसे के बाद विमान का मलबा चारों तरफ फैल गया, लेकिन राहत की बात ये थी कि प्लेन के क्रैश के समय पायलट ने बड़ी चालाकी और सूझबूझ दिखाई और सघन आबादी वाले इलाके में भी खाली जगह में प्लेन को लैंड करने की कोशिश की। क्रैश होने के साथ ही प्लेन के परखच्चे उड़ गए। राहतकर्मियों ने क्रैश प्लेन के भीतर से चार शव बरामद कर लिए हैं। इस घटना की जांच दे दी गई है। चश्मदीद के अनुसार, चार से पांच धमाकों की आवाज आई। उन्हें पहले लगा कि कोई सिलेंडर फटा है, लेकिन बाद मेंं उन्हें समझ आया कि प्लेन क्रैश हुआ है। आपको बता दें कि यह घटना बारिश के दौरान हुई।

स्थानीय नेताओं ने कहा ऐसा…

ये प्लेन मुंबई के घाटकोपर इलाके में हुआ है और यह चार्टर्ड प्लेन सर्वोदय हॉस्पिटल के पास गिरा है। कांग्रेस के एक स्थानीय नेता ने बताया कि क्रैश हुआ प्लेन यूपी सरकार का है और प्लेन में सवार चार लोगों के समेत पांच लोगों की मौत हुई है। उन्होंने आगे कहा कि पायलट ने सूझबूझ से ऐसी जगह पर प्लेन को उतारने की कोशिश की, जिसकी वजह से कम से कम लोगों की मौत हुई। वहीं बीजेपी के स्थानीय विधायक ने कहा कि वाकई में यह दुर्घटना बहुत चिंताजनक है, लेकिन पायलेट की सूझ-बूझ के चलते एक बड़ा हादसा होने से टल गया। मौके पर मौजूद एक राहगीर राजीव की मौत हुई है, जिनकी जेब से एक टेप निकली है। इसके बाद ऐसी अटकलें लगाई जा रही हैं वो यहां काम करने वाले कोई मजदूर रहा होगा।

Share