BJP और Gujarat कनेक्शन, गुजरात को मीडिया के लोग हिंदुत्व की प्रयोगशाला कहते थे

बीजेपी सत्ता में आई उसमें गुजरात का बहुत बड़ा योगदान है, पूरी बात जानिए यहां

– NDI24 नेटवर्क
अहमदाबाद.
बीजेपी सत्ता में आई उसमें गुजरात का बहुत बड़ा योगदान है…। गुजरात को मीडिया के लोग हिंदुत्व की प्रयोगशाला कहते थे…। गुजरात पहला राज्य है, जहां बीजेपी सत्ता में आई और जिस जमाने में बीजेपी के सिर्फ दो संसद सदस्य थे उसमें से एक मेहसाना से थे।

आपको जानकर बड़ा आश्चर्य होगा…

गुजरात (Gujarat) में बीजेपी (BJP) को सत्ता में लाने में कुख्यात माफिया डॉन अब्दुल लतीफ (Abdul Latif) का बहुत बड़ा योगदान है। अगर अब्दुल लतीफ नहीं होता तो बीजेपी कभी सत्ता में नहीं आती। अब्दुल लतीफ इतना कुख्यात डॉन था कि उसने सबसे पहले ak-56 इस्तेमाल किया था और 12 पुलिसकर्मियों सहित डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों का मर्डर किया था, जिसमें राधिका जिमखाना मर्डर (Radhika Jimkhana Murder) बहुत प्रसिद्ध हुआ था। जब राधिका जिमखाना क्लब में लतीफ ने अंधाधुंध गोलीबारी करके एक साथ 35 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। लतीफ के ऊपर कांग्रेस (Congress) और जनता दल (Janta Dal) दोनों के नेताओं का वरदहस्त था। लतीफ की इतनी पहुंची कि वह मुख्यमंत्री चिमन भाई पटेल (Chimanbhai Patel) के चेंबर में बगैर अपॉइंटमेंट के चला जाता था और तस्करी सोने चांदी की स्मगलिंग ड्रग्स की स्मगलिंग इत्यादि में अरबों रुपए कमाया और उसमें नेताओं को हिस्सा जाता था।

हिंदू का बंगला-दुकान खाली करवा लेता था लतीफ…

यदि लतीफ या लतीफ के गैंग के किसी गुर्गे को कोई हिंदू लड़की पसंद आ जाती थी तो वो रातों-रात उठा ली जाती थी। लतीफ जब चाहे तब किसी हिंदू का बंगला दुकान खाली करवा लेता था। उस समय भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) गुजरात में संघर्ष के दौर में थी। नरेंद्र मोदी (Narendra Modi), शंकर सिंह वाघेला (Shankar Singh Vaghela), केशुभाई पटेल (Keshubhai Patel) साइकिल स्कूटर पर चप्पल पहन कर घूमते थे।

वाघेला ने अब्दुल लतीफ का एनकाउंटर करवा दिया…

एक दिन गोमतीपुर (Gomatipur) में बीजेपी की एक सभा थी भाषण देते देते केशुभाई पटेल ने जोश ने बोल दिया कि जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार आएगी तब अब्दुल लतीफ का एनकाउंटर करवा दिया जाएगा। बोलने के बाद वह डर गए उनकी सुरक्षा बढ़ा दी गई, लेकिन गुजरात की जनता के अंदर एक संदेश गया कि आखिर यह कौन से पार्टी के लोग हैं, जो अब्दुल लतीफ के गढ़ में उसके इन काउंटर करने की बात कर रहे हैं और केशुभाई पटेल के इस भाषण के बाद जब चुनाव हुआ, तब गुजरात में बीजेपी की 35 सीटें आईं, जो अपने आप में बहुत बड़ी विजय थी। उसके बाद बीजेपी ने अब्दुल लतीफ और उसके गुर्गों के खिलाफ मोर्चा खोला और अगले चुनाव में बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बन गई और अपने वायदे के मुताबिक शंकर सिंह वाघेला ने अब्दुल लतीफ का एनकाउंटर करवा दिया।

एनकाउंटर भी बड़े जोरदार तरीके से…

अब्दुल लतीफ का एनकाउंटर भी बड़े जोरदार तरीके से हुआ था। शंकर सिंह वाघेला के सामने डीएसपी जाडेजा (DCP Jadeja) साहब आए और बोले सर लतीफ का एनकाउंटर करना चाहता हूं क्योंकि इसने मेरे इंस्पेक्टर झाला का मर्डर किया था, जब वह अपनी गर्भवती पत्नी को देखने छुट्टी पर जा रहा था। अब्दुल लतीफ को गिरफ्तार किया गया और नवरंगपुरा (Navrangpura) स्थित पुराने हाईकोर्ट (High Court) में उसकी पेशी होनी थी। पेशी के पहले डीएसपी जडेजा ने कहा दाबेली खाओगे, लतीफ ने हां बोला तो उसकी हथकड़ी खोल दी गई और फिर उसे 8 गोली मार दी गई और मीडिया में कह दिया गया कि लतीफ ने नाश्ता करने के लिए हथकड़ी खुलवाई और भागने की कोशिश किया, जिसके फलस्वरूप वह मारा गया।

अशांत धारा एक्ट लागू कर दिया…

उसके बाद शंकरसिंह वाघेला ने एक और बहुत अच्छा काम किया कि उन्होंने अशांत धारा एक्ट लागू कर दिया यानी गुजरात के विभिन्न शहरों में बहुत से इलाके चिन्हित कर दिए गए और इन इलाकों में किसी हिंदू की प्रॉपर्टी कोई मुस्लिम नहीं खरीद सकता और उसके बाद बीजेपी गुजरात से होती हुई मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh), उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), बंगाल (Bengal) सब जगह बढ़ती चली गई और आज केंद्र में 303 सीटों के साथ सत्ता में है।

“शायद तक सबका साथ सबका विकास का नारा नहीं था…”

आभार… @बिमल मिश्रा

Share