देश में चरम पर बेरोजगारी, शिक्षित युवा वर्ग को नहीं मिल रहा रोजगार
भाजपा खेल रही है हिंदू कार्ड
Share


देश में चरम पर बेरोजगारी, शिक्षित युवा वर्ग को नहीं मिल रहा रोजगार 

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. देश की मोदी सरकार अपने पांच वर्षों के कार्यकाल में पूरी तरह से असफल रही है। भाजपा के दौर में विकास और रोजगारी के नाम पर लोगों से बस झूठे अश्‍वासन ही किए गए। वहीं अब देश की मूलभूत जरूरतों के विपरीत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह लोगों को भटकाने का काम कर रहे हैं, जिसके चलते अब भाजपा हिंदू कार्ड खेलने के साथ ही देश की सुरक्षा का मुद़दा आवाम के बीच जोरशोर से उठाया जा रहा है। वहीं तमाम आंकड़ों का हवाला देते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्‍ता अभिषेक मनु सिंघवी ने गुरुवार को भाजपा पर जोरदार हमला बोला और आजाद मैदान स्थित मुंबई कांग्रेस कार्यालय में कहा कि हमारा देश पिछले पांच वर्षों में लगातार पीछे हुआ है, जिसके चलते आज देश में बेरोजगारी चरम पर है और शिक्षित युवा वर्ग दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हो रहा है। 

45 सालों में सर्वाधिक 6.1 प्रतिशत बेरोजगारी…

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता ने मुंबई में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि नेशनल सैंपल सर्वे के अनुसार, देश में बेरोजगारी पिछले 45 सालों में सर्वाधिक 6.1 प्रतिशत दर्ज की गई है। कांग्रेस के यूपीए सरकार के समय साल 2011-12 में यह 2.2 प्रतिशत था, वहीं 5 सालों में 4.7 करोड़ लोगों ने अपनी नौकरी गंवाई है। वहीं नोटबंदी के बाद से बात की जाए तो साल 2018 में ही 1.1 करोड़ लोगों ने अपनी नौकरियों से हाथ धोना पड़ा है। भाजपा की मोदी सरकार का स्टार्ट अप इंडिया ,स्किल इंडिया समेत मुद्रा योजना के अलावा सभी महत्वाकांक्षी योजनाएं पूरी तरह से निराधार साबित हुई हैं। मुद्रा योजना का लाभ लेने वालों में 91 प्रतिशत लोगों को सिर्फ 23 हजार का लोन मिला है। इसके आलवा अभिषेक सिंघवी ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि अगर आज पकौड़ा की दुकान भी खोलनी हो तो 23 हजार रुपए से भी ज्यादा रुपयों की जरूरत होती है।

Share