यह विरोध सिर्फ 2024 के चुनावों में हार के डर से हो रहा है, कृषि कानून के समर्थन में कोंकण में किसानों की विशाल ट्रैक्टर रैली

NDI24 नेटवर्क

मुंबई. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांतदादा पाटिल ने कहा है कि विपक्ष कृषि कानून का विरोध अपने सफाये के डर से कर रहा है। प्रधानमंत्री के रूप में देश की बागडोर संभालने के बाद नरेंद्र मोदी ने वर्षों से लंबित कई मुद्दों को सुलझाया हैं। इसी वजह से उन्होंने देश के आम लोगों के दिमाग में अपनी पक्की जगह बनाई है, अतः भारतीय जनता पार्टी 2024 का लोकसभा चुनाव भी एक तिहाई बहुमत से जीतेगी और विपक्ष का सफाया हो जाएगा। इसी डर से विपक्ष कृषि कानूनों का विरोध कर रहा है। विपक्ष ने दिल्ली में कृषि कानूनों के खिलाफ एक ट्रैक्टर मार्च निकाला, लेकिन महाराष्ट्र में कृषि कानूनों के समर्थन में एक विशाल ट्रैक्टर रैली का आयोजन किया गया था, जिसमें हजारों किसानों ने भाग लिया। भाजपा अध्यक्ष पाटिल सिंधुदुर्ग जिले के कांवली, देवगढ़, वैभववाड़ी में कृषि अधिनियम के समर्थन में इस विशाल ट्रैक्टर रैली के समापन समारोह में बोल रहे थे। इस कृषि कानून समर्थन रैली 10 से 12 हजार किसानों ने भाग लिया था। भाजपा सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे, राज्य के पूर्व कृषि मंत्री और भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष डॉ. अनिल बोंडे, विधायक नितेश राणे, विधायक रवींद्र चव्हाण, भाजपा जिला अध्यक्ष और पूर्व विधायक राजन तेली, सिंधुदुर्ग जिला केंद्रीय बैंक के निदेशक अतुल कालसेकर, समिधा नाइक, प्रमोद जथार, अजीत गोगटे और अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस ट्रैक्टर रैली के समापन अवसर पर उपस्थित थे।

पंजाब के मुट्ठी भर किसान कर रहे विरोध : चंद्रकांतदादा पाटि


भाजपा अध्यक्ष पाटिल ने कहा कि 2014 से, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उन सभी मुद्दों को सुलझा लिया है जो वर्षों से लंबित थे। मृदा परीक्षण के लिए मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना पेश की ताकि किसानों को कृषि में अधिक लाभ मिल सके। स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें को लागू की, किसानों के खातों में प्रति वर्ष छह हजार रुपये जमा किए। सभी के घर में शौचालय बनाए गए। इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी माताओं और बहनों के लिए और भी कई योजनाएं लाए। इन सब के कारण, आज मोदी ने आम आदमी की गरिमा बधाई और देश के दिलों में अपना दृढ़ स्थान बनाया है। चंद्रकांतदादा पाटिल ने कहा कि दिल्ली की सीमा पर मुट्ठी भर किसान देश के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं, लेकिन कोंकण की यह विशाल रैली इस बात का सबूत है कि ये कानून किसानों के लाभ के लिए हैं और यह प्रमाण भी है कि किसान पूरे देश में इस कानून का समर्थन कर रहे हैं। पाटिल ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनावों में भाजपा 400 से अधिक सीटें जीतेगी, इसी डर से पंजाब के मुट्ठी भर किसान कृषि अधिनियम का विरोध कर रहे हैं, लेकिन किसानों को वहां की असलियत सब पता है। इसलिए वे इसके शिकार नहीं होंगे।

विपक्ष को किसानों से कोई प्यार नहीं…


भाजपा अध्यक्ष पाटिल ने आगे कहा कि जब राज्य में भाजपा-शिवसेना गठबंधन की सरकार थी, तब मैं राज्य का विपणन मंत्री था। उस समय हमने किसानों के हित के लिए इस कानून को राज्य में लागू किया। फिर भी शुरू में बाजार समितियों ने इसका विरोध करने की कोशिश की, लेकिन उस समय मैंने खुद कहा था कि इस अधिनियम के लागू होने के बाद भी, कृषि उपज मंडी समितियां इसी तरह से जारी रहेंगी। आज राज्य की क्या तस्वीर है। राज्य में कृषि उपज मंडी समितियां उसी तरीके से काम कर रही हैं। इसके विपरीत, चूंकि संत सावता माली साप्ताहिक बाजार किसानों को अपनी उपज सीधे उपभोक्ताओं को बेचने की अनुमति देता है, इसलिए किसानों की आय में अच्छी वृद्धि हुई है। विरोधियों को छह महीने बाद समझ में आया कि छह महीने पहले पारित तीन कृषि कानून किसानों के खिलाफ थे, यह आश्चर्य का विषय है। छह महीने तक विरोधी नींद में थे। एक राज्य के मुट्ठी भर किसान दिल्ली की सीमा पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, जबकि मूल रूप से इन कानूनों से सभी किसानों को लाभ होगा। मोदी सरकार ने यूरिया की काला बाजारी बंद किया साठ साल के बाद, उन्होंने खेतिहर मजदूरों के लिए तीन हजार रुपये की पेंशन शुरू की और फसल बीमा योजना शुरू की। इसमें सभी प्रकार के मुआवजे का प्रावधान है। फिर भी मोदी का विरोध महज एक संयोग नहीं है, यह विरोधियों के भयभीत होने का प्रमाण हैं। पाटिल ने कहा कि लोगों के मन में मोदी जी के लिए प्यार है, जबकि विपक्ष को किसानों से कोई प्यार नहीं है।

किसानों को मिल रहा उचित मूल्य : नारायण राणे


इस अवसर पर भाजपा नेता पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देश की बागडोर संभालने के बाद देश तेजी से प्रगति कर रहा है। 70 वर्षों से किसानों का शोषण करने वाले कानूनों को तोड़कर किसानों को बहुत राहत दी गई है। आज किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य मिल रहा है। नया कृषि कानून किसानों को लाभान्वित करने वाला है, इसमें गलत कुछ भी नहीं है। राणे ने यह भी कहा कि भारतीय जनता पार्टी हमेशा किसानों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।

Share