महाराष्ट्र में रियल एस्टेट में रौनक लौटी, लॉकडाउन में बिके 130995 घर...
Share

राज्य सरकार की तिजोरी में 931 करोड़ रुपए की आवक

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई.
महामारी कोविड-19 के चलते जारी लॉकडाउन को लेकर महाराष्ट्र में रियल एस्टेट को भी काफी बड़ा नुकसान हुआ। हालांकि दूसरी तरफ राहत की खबर यह भी है कि अक्टूबर महीने में पूरे राज्य में लोगों ने रिकॉर्ड तोड़ घर भी खरीदे हैं। वहीं घर बिक्री और मुद्रांक शुल्क विभाग से 1 लाख 30 हजार 995 घर बिकने की अच्छी खबर से एक बार फिर राज्य में रियल एस्टेट में रौनक लौटी है। वहीं इन घरों की खरीदारी से राज्य सरकार की तिजोरी में 931 करोड़ रुपए की आवक भी हुई है। विदित हो कि अप्रैल महीने में मात्र 778 घर बिके थे, जबकि छह महीने बाद लाखों घरों की बिक्री से विकासकों के चेहरों से मायूसी दूर हुई है।

रियल एस्टेट में बहार…

बता दें कि पिछले तीन वर्षों से बिल्डर रियल एस्टेट में मंदी की मार झेल रहे थे और बेसब्री से घरों की बढ़ी कीमत के घटने का इंतजार भी खरीददार कर रहे थे। कोविड19 ने आवाम की इस कदर कमर तोड़ी कि खरीदारों के वेतन में कटौती और न जाने कितने लोगों को नौकरी से निकाल दिया गया। इन्हीं कारणों से खरीददारों के मंसूबों पर पानी फिर गया। छह महीने के बाद एक बार फिर रियल एस्टेट में बहार देखने को मिली है। घर बिक्री और मुद्रांक शुल्क विभाग की ओर से मिली जानकारी के अनुसार, अक्टूबर महीने में लोगों ने जमकर घरों की खरीददारी की है। आंकड़ों के मुताबिक 1 लाख 30 हजार 995 घर पूरे राज्य में बिके हैं, जिसके चलते राज्य सरकार की तिजोरी में 931 करोड़ रुपए जमा हुए हैं।

सरकार को निभानी होगी सकारात्मक भूमिका…

गौरतलब है कि हॉट स्पॉट होने के नाते लोगों की मंसा मुंबई में घर खरीदने की पहली प्राथमिकता होती है, पिछले साल की अपेक्षा इस वर्ष अक्टूबर में मुंबई में 7 हजार 929 घर बिके। वहीं पिछले वर्ष अक्टूबर में 5 हजार 811 घर बिके थे। 2019 में पूरे राज्य में 79 हजार 901 मात्र घर बिके थे। वहीं डी.के. होम्स अन्तर्गत कल्याण में दर्जनों इमारतों का निर्माण करने वाले बिल्डर दिलीप कटके का कहना है अक्टूबर की खरीददारी की लहर आगे भी कायम रहेगी, स्टांप ड्यूटी में छूट के साथ बिल्डरों के प्रति व रियल एस्टेट को लेकर सरकार को सकारात्मक भूमिका निभानी होगी।

खरीददारी की लहर अच्छी है…

यह खरीददारी की लहर तो अच्छी है, लेकिन अप्रैल के बाद जब सरकार की ओर से स्टांप ड्यूटी में मिली छूट पुनः 5 प्रतिशत होगी तो भारी मंदी देखने को मिल सकती है। अभी दो प्रतिशत स्टांप ड्यूटी होने के नाते लोग घर खरीद रहे हैं।
– राजेश धनजी गाला, प्रसिद्ध बिल्डर

Share