घर खरीदना भी एक बहुत बड़ा निर्णय, लोग लगा देते हैं सारी जमा पूंजी

घर खरीदते समय अब इस तरह से हों जागरूक, पता चलेगा कि पहले से तो नहीं बिका है घर

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई. घर खरीदना किसी के लिए भी एक बहुत बड़ा निर्णय होता है। लोग अपने जीवन की सारी जमा पूंजी घर खरीदने में लगा देते हैं। इसलिए घर खरीदते समय हमें बहुत जागरूक होना पड़ता है। घर खरीदते समय एक घर खरीददार की सबसे बड़ी समस्या यह होती है कि उसे यह कैसे पता चले कि बिल्डर ने वह घर पहले ही किसी और को तो नहीं बेच दिया।

बिल्डरों का धोखा आएगा सामने…

कुछ समय पहले घर खरीदारों से यह आपको शिकायत थी। इस समस्या का समाधान मिल गया है और अब घर खरीदने से पहले घर खरीददार यह जान सकते हैं कि कहीं बिल्डर ने उनके साथ धोखा तो नहीं किया। कहीं बिल्डर ने पहले ही वह घर किसी और को तो नहीं बेच दिया।

महारेरा ने जारी किया परिपत्र…

महारेरा (MAHARera) ने एक परिपत्र जारी कर करते बिल्डरों को कहा है कि उन्हें यह बस सूचित करना होगा कि उन्होंने इसे घर बेचा है और साथ ही उन्हें यह भी बताना होगा कि कितने घर बिके हैं। इस परिपत्र में बिल्डरों को यह भी कहा गया है कि उन्हें बिके हुए घर के कारपेट एरिया का भी खुलासा करना होगा। इस नियम में बिल्डरों को यह भी बताना होगा कि घर खरीदारों को और क्या-क्या सुविधाएं दी गई हैं।

अधिकारियों को किया जाय सूचित…

परिपत्र में कहा गया है कि घर खरीदारों को और स्पष्ट हटा देते हुए और एक ही घर दो बार न खरीदा। उसके लिए यह जरूरी है कि मानक प्रारूप में आवश्यक जानकारी प्रदान करें और बिक्री होते ही अधिकारियों को सूचित कर दिया जाए।

पूरा प्रारूप यहां पर देखें…

विशेषज्ञ कहते हैं कि इससे घर खरीदने में पारदर्शिता आएगी…

वकील प्रकाश रोहिरा (Prakash Rohira) कहते हैं कि इस नियम से पारदर्शिता आएगी और घर खरीदारों के लिए बहुत अच्छा होगा कि वह घर खरीदने से पहले घर के बारे में और जान जाएंगे। हालांकि अभी भी कई ऐसे बिल्डर हैं, जो सिर्फ आवंटन पत्र देते हैं और पंजीकरण नहीं करवाते और इसे रोकने के लिए प्रशासन ने बहुत अच्छा कदम उठाया है। यह कदम बिक्री और आवंटन को विनियमित करने के काम आएगा।

पहले ही मिल सकेगी घर की जानकारी…

वहीं दूसरी ओर एडवोकेट सुनील केवलरमानी (Sunil Kewalramani) ने बताया कि ऐसे कई मामले सामने आए हैं, जहां बिल्डर एक ही फ्लैट दो बार खरीददारों को बेच देता है और फिर वह घर खरीदारों को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इस परिपत्र के तहत अब बिल्डरों को परियोजनाओं के विवरण बताने होंगे। इससे पारदर्शिता बढ़ेगी और घर खरीदार घर खरीदने से पहले घर की जानकारी पता कर सकेंगे।

Share