चंद्रकांत पाटिल ने राहुल गांधी को बताया राजनीति का 'हास्यरत्न', कोरोना ने शायद राहुल के दिमाग पर असर डाला है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सीरम वैक्सीन उत्पादक कंपनी के बारे में अनर्गल प्रलाप क्यों?

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने कोरोना ग्रस्त कांग्रेस नेता राहुल गांधी को निशाने पर लेते हुए कहा है कि लगता है कोरोना ने राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के दिमाग पर असर डाला है, इसीलिए वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और सीरम वैक्सीन (Serum Vaccine) उत्पादक कंपनी के बारे में अनर्गल प्रलाप कर रहे हैं। पाटिल ने राहुल गांधी को भारतीय राजनीति में ‘हास्यरत्न’ की संज्ञा दी है।

सिरम इंडिया की वैक्सीन की कीमत पर आपत्ति…

भाजपा अध्यक्ष पाटिल के राहुल गांधी पर भड़कने की वजह यह है कि राहुल ने हाल ही में सिरम इंडिया के अदर पूनावाला (Adar Punawala) की आलोचना करते हुए उन्हें ‘मोदी के मित्र’ के रूप में प्रचारित करते हुए सिरम इंडिया की वैक्सीन की कीमत पर आपत्ति जताई थी। पाटिल ने कहा है कि राहुल गांधी एक राजनीतिक ‘हास्यरत्न’ और लगता है कि कोरोना संक्रमण सीधे उनके दिमाग में हुआ है। महाराष्ट्र (Maharashtra) में महाविकास आघाड़ी सरकार (Mahavikas Aghadi Sarkar) की सहभागी पार्टी कांग्रेस के सांसद राहुल ने सिरम इंडिया (Serum India) की ओर से घोषित टीके की कीमत पर आपत्ति जताई है। पाटिल ने कहा है कि सीरम की इस घोषणा को भी राहुल गांधी को ‘मोदीजी के मित्र’ के लाभ के रूप में प्रचारित कर रहे हैं। पाटिल ने कहा कि कांग्रेस सांसद (Congress MP) राहुल गांधी देश की राजनीति के ‘हास्यरत्न’ हैं।

वैक्सीन प्राप्त करने का एक अच्छा अवसर…

पाटिल ने कहा कि राहुल गांधी की यह भूमिका राष्ट्र-विरोधी है। उन्होंने कहा कि राहुल न केवल कांग्रेस के लिए बल्कि देश के लिए भी बहुत बड़ा खतरा हैं, इसीलिए जनता ने हर चुनाव में कांग्रेस को हराया है। महाराष्ट्र भाजपा अध्यक्ष पाटिल ने अपने बयान में कहा है कि महाराष्ट्र के लिए यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि एक महान प्रदेश को मुश्किल दौर में एक संकीर्ण सोच वाली सरकार मिली है। उन्होंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राष्ट्रवादी कांग्रेस के मुखिया शरद पवार को इंगित करते हुए कहा है कि उनके पास राहुल गांधी और उनकी कांग्रेस पार्टी को उसकी वास्तविक जगह दिखाने और महाराष्ट्र को सीरम से जितना संभव हो सके, वैक्सीन प्राप्त करने का एक अच्छा अवसर है।

वैक्सीन की तुलना में कम मूल्य…

इसलिए वे महाराष्ट्र के लाभ के लिए इस अवसर का लाभ उठाएं और अपने सहयोगी नेताओं को प्रदेश की जनता के साथ खिलवाड़ करने से रोकें। दरअसल, सिरम इंस्टीट्यूट वह भारतीय कंपनी है, जिसने कोरोना की वैक्सिन बनाकर दुनिया मे भारत का नाम रोशन किया है। पिछले कई महीनों से, पुणे स्थित सीरम इंडिया देश के लोगों को कोरोना से बचाने के लिए वित्तीय और चिकित्सीय जोखिम उठाकर वैक्सीन का उत्पादन कर रहा है। अब, सीरम इंडिया ने अपने वैक्सीन की कीमत को जनता के लिए पारदर्शी बना दिया है। पाटिल ने कहा कि आज भी यह वैक्सीन दुनिया के अन्य सभी वैक्सीन की तुलना में कम मूल्य की है।

Share