बिजली की आपूर्ति और रखरखाव की समस्याओं से नाराज उपभोक्ताओं ने शुरू किया आंदोलन, राज्य में 3,90,000 औद्योगिक ग्राहक…

0
222
चुनाव के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से दिया गया दिलासा, उद्योगपति उत्तरी महाराष्ट्र, पश्चिमी महाराष्ट्र, दक्षिण महाराष्ट्र, ठाणे, नवी मुंबई आदि में बिजली दरों को लेकर नाराज़
बिजली की आपूर्ति और रखरखाव की समस्याओं से नाराज उपभोक्ताओं ने शुरू किया आंदोलन
Share

चुनाव के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से दिया गया दिलासा, उद्योगपति उत्तरी महाराष्ट्र, पश्चिमी महाराष्ट्र, दक्षिण महाराष्ट्र, ठाणे, नवी मुंबई आदि में बिजली दरों को लेकर नाराज़

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. उत्तर, पश्चिम महाराष्ट्र और कोंकड के लोकसभा क्षेत्रों में लड़ाइयां शुरू होने की वजह से छोटे और सामाजिक घटकों को भी महत्व मिल रहा है। छोटे और इंडस्ट्रियल इलाकों में हो रही बिजली की कटौती और दरों में बढ़ोतरी के चलते लोकसभा चुनाव को झटका न लगे। इसलिए बिजली कंपनियों में दौड़ भाग शुरू हो गई है और बीच का रास्ता निकालने के लिए महावितरण की ओट से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी की गई। सितंबर 2018 में बिजली की बढ़ी कीमतों के चलते औद्योगिक ग्राहक नाखुश हो गए थे, राज्य में करीब 3 लाख 90 हजार औद्योगिक ग्राहक हैं। इन्होंने आंदोलन भी किया। मराठवाड़ा और विदर्भ में भाजपा की ओर से ग्राहकों को बिजली की दरों में सहूलियत भी दी हुई है,  लेकिन राजकीय औद्योगिक ग्राहक जैसे उत्तर महाराष्ट्र, पश्चिम महाराष्ट्र, दक्षिण महाराष्ट्र, ठाणे, नवी मुंबई आदि भागों में बिजली की बढ़ी कीमतों से नाराजगी है।

…तो बंद हो जाएगा महावितरण…

23 अप्रैल, और 29 अप्रैल को इन स्थानों में मतदान होना बाकी है। वहीं ठाणे, वसई भागों में औद्योगिक बिजली ग्राहकों को महावितरण के अधिकारियों ने संवाद किया, जिसकी वजह से युति और आघाडी की इस बार लड़ाई में महावितरण के अधिकारियों ने कुछ मलहम पट्टी लगाने का काम किया है। वहीं ग्राहकों की माने तो महावितरण ने हमसे बातचीत की है, बढ़ी बिजली की कीमतें, एक बार बिजली न होने आदि विषयों पर चर्चा हुई। इस पर आश्वासन मिला है कि देखभाल और दुरुस्ती के लिए ऑनलाइन प्रक्रिया होगी और हफ्ते में जो 1 दिन बिजली की कटौती होती है, वह अब महीने में एक बार होगी। हमने खुले बाजार से बिजली खरीदने की मंजूरी देने के लिए कहा तो महावितरण के व्यवस्थापक संजीव कुमार ने कहा कि ऐसा हुआ तो महावितरण बंद हो जाएगा।
महीने में एक बार ही बिजली काटी जाएगी…उत्तर पश्चिम का कौन-कौन जिलों में औद्योगिक ग्राहकों की शिकायतें समस्या दूर करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बातचीत हुई। इस पर हमने आश्वासन दिया है कि हफ्ते की बजाय, अब महीने में एक बार बिजली काटी जाएगी।- पीएस पाटील, पीआरओ, महावितरण

महीने में एक बार ही बिजली काटी जाएगी

…उत्तर पश्चिम का कौन-कौन जिलों में औद्योगिक ग्राहकों की शिकायतें समस्या दूर करने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से बातचीत हुई। इस पर हमने आश्वासन दिया है कि हफ्ते की बजाय, अब महीने में एक बार बिजली काटी जाएगी।- पीएस पाटील, पीआरओ, महावितरण

Share