पवई में साइबर क्राइम के प्रति जागरूकता अभियान, महाराष्ट्र के पुलिस महानिरीक्षक ने सिखाए गुर

1000 करोड़ रुपए की निधि से महाराष्ट्र में सुधरेगा साइबर क्राइम, राज्य के हर जिले में अलर्ट है साइबर क्राइम ब्रांच…

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. आधुनिक तकनीकि के साथ-साथ बढ़ रहे साइबर क्राइम के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए पवई के हीरानंदानी में साइबर क्राइम जागरूकता अभियान व बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजमेंट के गुर सिखाए गए। जस्ट अमंग गर्ल्ज और अपराइज इंडिया इनिशिएटिव फाउंडेशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि महाराष्ट्र आईजी एवं साइबर क्राइम हेड बृजेश सिंह ने लोगों को जागरूक करते हुए कहा कि बढ़ती हुई तकनीकियों, सोशल मीडिया का क्रेज के साथ-साथ साइबर क्राइम अपने चरम पर है। उन्होंने आगे कहा कि महाराष्ट्र सरकार ने 1000 करोड़ रुपए की निधि का महाराष्ट्र को साइबर क्राइम से बचाने के लिए प्रावधान किया है, जिसका उपयोग आगामी दिनों में हम साइबर सुरक्षा को मजबूत करने में करेंगे। इसके अलावा करीब 2 साल से राज्य के हर जिले में साइबर क्राइम ब्रांच विभिन्न तरह के क्राइम से निपटने के लिए अलर्ट पर है।

विशेष सावधानियां बरतने की आवश्यकता…

महाराष्ट्र के साइबर क्राइम के आईजी ने आगे कहा कि इससे सावधान रहने के लिए कुछ विशेष सावधानियां बरतने की आवश्यकता है, जिसमें उन्होंने कहा सर्वप्रथम हमें कभी भी कहीं के मुफ्त वाईफाई मिले तो उसे प्रयोग नहीं करना चाहिए। साथ ही मुफ्त के वाईफाई से कभी भी बैंकिंग, पर्सनल और अपने जीवन से रिलेटेड कोई भी जानकारी शेयर नहीं करनी चाहिए, ताकि साइबर क्राइम करने वाले आपकी जानकारी का दुरुपयोग न कर सकें। प्रतिदिन करीब हजारों केसेस, शिकायतें इस प्रकार की आती रहती हैं।

सभी ने रखे अपने विचार…

कार्यक्रम के दूसरे अतिथि पी. के कोंडीनिया ने महिलाओं को सशक्त होकर व्यापार में किस तरह आगे बढ़े, इसके बारे में पूर्ण जानकारी दी। वहीं इस अवसर पर विक्रम शंकर, पूजा भनोट, शालिनी तिवारी, दीप्ति भट्ट, आकाश शुक्ला समेत कार्यक्रम से संबंधित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे और इस दौरान सभी ने अपने-अपने विचार रखे।

Share