मर्यादा वाला पोशाक, जैन मुनि विश्वानंद विजय ने किया आगाह

भारत देश में ऐसा कपड़ा लाजिल नहीं है, उसमें बदलाव करने की जरूरत

– NDI24 नेटवर्क
ठाणे.
शहर स्थित शंखेश्वर पार्श्वनाथ मंदिर में चातुर्मास में विराजमान जैन मुनि विश्वानंद विजय ने कहा कि आज 12 वर्ष की उम्र से 20 वर्ष की लड़कियां जीन्स जैसा चुस्त कपड़ा पहन कर घूमती हैं, हाथ में मोबाइल। भारत देश में ऐसा कपड़ा लाजिल नहीं है, उसमें बदलाव करने की जरूरत है।

लड़कियों का बॉयफ्रेंड का नाटक…

अभी शादीशुदा बहनों ने अपना पहनावा छोड़ दिया है। चुस्त कपड़ा जींस पहनकर बाजार, मंदिर में जाती हैं। वह लोग प्रदर्शन करती हैं। ऐसे नारियों व लड़कियों को देखकर देखने वाले बांहकावे में आ जाते हैं। देखने वाले का मन कंट्रोल नहीं होगा तो बलात्कार जैसा क्राइम करते हैं। इससे दोनों की जिंदगी बर्बाद होती है। 12 से 18 साल की लड़कियों ने बॉयफ्रेंड का नाटक चालू किया है।

कंट्रोल में रहे बच्चे ही आगे प्रगति करेंगे…

इससे बड़ा नुकसान देश को हो रहा है। कोई बदमाश बॉयफ्रेंड वीडियो निकालकर अपने फ्रेंड जनरल में ट्रोल करता है। आगे के मुसीबतें खड़ी हो रही हैं। वह सब देशवासी जानते हैं। इसलिए लड़के-लड़कियों के माता-पिता को अपनी संतानों को कंट्रोल में रखना चाहिए। कंट्रोल में रहे बच्चे ही आगे प्रगति करेंगे।

Share