महाराष्ट्र में ई-संजीवनी से मरीजों की जांच का समय बढ़ा
Share

6000 से अधिक मरीजों ने लिया लाभ

-NDI24 नेटवर्क

मुंबई. कोरोना के कारण लॉकडाऊन के दिनों में आम लोगों को चिकित्सक जांच को लेकर ऑनलाईन सलाह मिल सके तथा मरीज सलाह ले सके, इसके लिए शुरू की गई ई-संजीवनी ओपीडी के माध्यम से राज्यभर में अब तक 6000 से अधिक मरीजों ने इस सेवा लाभ लिया है। नागरिकों की सुविधा हेतु इस सेवा का समय बढ़ाया गया है, इस सेवा का लाभ अब दिन में दो बार लिया जा सकेगा। इसके पहले यह सेवा सुबह 9.30 से दोपहर 1.30 तक थी, जिसमें मरीजों को ऑनलाईन सलाह दी जाती थी, अब इसका समय बढ़ाकर दोपहर 3.00 से श्याम 5.00 तक का भी किया गया है। इसलिए दोनों पालियों में यह सेवा शुरू रहेगी, मरीज इन दोनों समय में इस सेवा का लाभ ले संकेंगे। इस ऑनलाईन ई-संजीवनी ओपीडी सेवा का मोबाईल एप भी तकरीबन 4 महीने पहले ही बनाया है। एण्ड्राईड आधारित एप होने से इसका लाभ स्मार्ट फोन धारकों को हो रहा है।

6072 लोगों ने इस सेवा का लाभ लिया

राज्य में अप्रैल में प्रायोगिक रूप से शुरू की गई यह सेवा मई माह में पूरी तरह से शुरू की गई है, इसके लिए www.esanjeevaniopd.in इस वेबसाइट पर मरीजों ने भेट देते हुये विशेषज्ञों का मार्गदर्शन ले सकते है। राज्य के किसी भी जिले से किसी भी जिले चिकित्सक अधिकारियों के साथ कम्यूटर, लैपटॉप, मोबाईल का उपयोग करते हुए किसी भी बीमारी पर चिकित्सक सलाह लेते सकते है और इलाज कर सकते है। राज्यभर में अब तक 6072 लोगों ने इस सेवा का लाभ लिया है।

एप डाऊनलोड करने के लिए लिंक है –

https://play.google.com/store/apps/details?id=in.hied.esanjeevaniopd&hl=en_US

ई-संजीवनी ओपीडी एप :

1) मोबाईल क्रमांक के द्वारा पंजीयन करने के बाद ‘ओटीपी’ आता है, इसके द्वारा मरीज अपना पंजीयन पूरा कर सकता है। उसके बाद टोकन के लिए अनुरोध करने पर बीमारी से संबंधित कुछ कागजाद, रिपोर्ट अपलोड किए जाते है। जिसके बाद एसएमएस के द्वारा मरीज को पहचान क्रमांक एवं टोकन क्रमांक प्राप्त होता है।

2) लॉगिन के लिए एसएमएस के द्वारा नोटीफिकेशन आता है, इसके बाद मरीज दिये गए पहचान क्रमांक के द्वारा लॉगिन कर सकते है।

3) डॉक्टरों से चर्चा के बाद तुरंत ही ई-प्रिस्क्रीप्शन भी प्राप्त होता है।

Share