जहां देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है, वहां षड़यंत्र की कार्रवाई करना निंदनीय

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई. कांग्रेस पार्टी (Congress Party) ने कोरोना के संदर्भ में देश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम कर मोदी सरकार (Modi Government) को संकट में डालने की मुहिम छेड़ी है, इसका खुलासा हो गया है। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत दादा पाटिल (Chandrakant Patil) ने कहा कि जहां पूरा देश कोरोना की दूसरी लहर से जूझ रहा है, वहीं देश के खिलाफ इस तरह से षड़यंत्र की कार्रवाई करना निंदनीय है।

एक तथाकथित टूलकिट सामने आया…

भाजपा अध्यक्ष पाटिल ने कहा कि सोशल मीडिया की दुनिया में एक तथाकथित टूलकिट सामने आया है। इसमें कांग्रेस ने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि मोदी सरकार को बदनाम करने के लिए क्या कुछ किया जाना चाहिए। पाटिल ने कहा है कि राजनीतिक विरोध के लिए कांग्रेस अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश को बदनाम करने के लिए इतनी आगे बढ़ गई है, यह शर्मनाक है। इस टूल किट में यह भी सामने आया है कि कांग्रेस ने हिंदुओं और मुसलमानों के बीच भेदभाव करते हुए आलोचना का सहारा लिया है। यह चौंकाने वाला और निंदनीय है।

पत्रकारों से हाथ मिलाने का सुझाव…

पाटिल ने इस पूरे प्रकरण की केंद्रीय जांच एजेंसी से जांच कराकर दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है।उन्होंने कहा कि कांग्रेस की रिसर्च टीम द्वारा तैयार इस टूलकिट में पार्टी कार्यकर्ताओं को यह चर्चा करने का निर्देश दिया गया है कि सदियों से हिंदू समुदाय की आस्था का प्रतीक रहा कुंभ मेला कोरोना का सुपर स्प्रेडर है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ईद की भीड़ पर टिप्पणी नहीं करने की सलाह दी गई है। अंतर्राष्ट्रीय मीडिया ने सुपर स्प्रेडर एक्वेरियस नामक एक कथा को स्थापित करने की कोशिश की है और इसे आगे बढ़ाने के लिए समान विचारधारा वाले अंतरराष्ट्रीय मीडिया और पत्रकारों से हाथ मिलाने का सुझाव दिया है।

चौंकाने वाले सुझाव…

पाटिल ने कहा कि कांग्रेस के टूलकिट में अपने कार्यकर्ताओं को दिए गए चौंकाने वाले सुझाव साफ तौर पर बताते हैं कि कोरोना के नए स्ट्रेन को ‘इंडियन स्ट्रेन’ या ‘मोदी स्ट्रेन’ कहा जाना चाहिए। इसने यह भी कहा कि पीएम केयर फंड को लगातार कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा गलत बताया जाना चाहिए और यदि कोई बड़ी हस्ती इसमें दान करती है तो उसे सोशल मीडिया पर टारगेट किया जाना चाहिए। पाटिल ने कहा कि इस टूलकिट में एक और अमानवीय सुझाव यह भी था कि अस्पतालों में बेड और वेंटिलेटर जैसी अन्य सामग्री को अटकाया जाना चाहिए और यह केवल कांग्रेस नेताओं के कहने पर उपलब्ध कराया जाना चाहिए, ताकि यह प्रतीत हो कि केवल कांग्रेस कार्यकर्ता ही कोरोना काल में जनता की मदद कर रहे हैं।

की जानी चाहिए कार्रवाई…

उन्होंने कहा कि कुल मिलाकर यह टूलकिट चौंकाने वाला है और केंद्रीय जांच एजेंसी की ओर से इसके निर्माण और उपयोग की गहन जांच करके संबंधितों के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए।

Share