अधिकारियों की उपस्थिति में हुआ खाद्यान्न वितरण
Share

DM ने स्वयं कोटे की दुकानों पर की छापेमारी, एक कोटेदार की जमानत जब्त करने का आदेश

– NDI24 नेटवर्क
गोंडा. यूपी के गोंडा में माह के प्रथम वितरण दिवस पर जिले की सभी सस्ती गल्ले की दुकानों पर जिलाधिकारी कैप्टेन प्रभांशु श्रीवास्तव के आदेश पर ताबड़तोड़ छापेमारी हुई। जिलाधिकारी सहित नामित अधिकारियों ने दुकानों पर जाकर खाद्यान्न वितरण की हकीकत देखा और स्वयं की उपस्थिति में गल्ले का वितरण कराया तथा स्टाक व वितरण का भौतिक सत्यापन किया। जिलाधिकारी ने स्वयं तराजू व बांट का निरीक्षण किया तथा तौल की पड़ताल की। विदित हो कि जिले में खाद्याान्न वितरण सुचारू ढंग से कराने के लिए जिलाधिकारी ने जिले की ग्रामीण अंचल की 1314 तथा नगर की 86 दुकानों सहित कुल 1377 कोटे की दुकानों के सापेक्ष 292 पर्यवेक्षणीय अधिकारियों की ड्यूटी लगाई थी। जिसमें ब्लाक रूपईडीह में 20, परसपुर में 24, पण्डरीकृपाल में 13, झंझरी में 20, इटियाथोक में 18, मुजेहना में 15, कटरा बाजार में 21, मनकापुर में 18, छपिया में 17, बभनजोत में 17, हलधरमऊ में 15, करनैलगंज में 16, बेलसर में 16, तरबगंज में 16, नवाबगंज में 20, वजीरगंज में 22 तथा नगर क्षेत्र मनकापुर में 1 , नवाबगंज में 1, गोण्डा नगर क्षेत्र में 19 अधिकारियों की ड्यूटी लगाई गई थी। जिलाधिकारी ने स्वयं कटरा बाजार क्षेत्र अन्तर्गत ग्राम वीरपुर कटरा, तिलका, बौनापुर, खैरम बिरवा तथा सिसई जोगा में औचक निरीक्षण किया।  जिलाधिकारी ने वितरण में सामान्य गड़बड़ी मिलने पपर बौनापुर कोटेदार रामानन्द पाण्डेय का स्टाक रजिस्टर कब्जे में लेकर जमानत राशि जब्त करने के आदेश दिए हैं। इसके अलावा खैरम बिरवा में भी ग्रामीणों द्वारा डीएम को बताया गया कि कोटेदार रेगुलर राशन नहीं बांटता। इस पर डीएम ने कोटेदार को पूरा राशन बांटने और तत्काल सुधर जाने की नसीहत दी है।

खाद्यान्न माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई

इसके अलावा जिलाधिकारी के आदेश एडीएम रत्नाकर मिश्र, सिटी मजिस्ट्रेट पीडी गुप्ता, बीएसए संतोष कुमार देव पाण्डेय, डीपीआरओ घनश्याम सागर, एआरओ सहित अन्य नामित अधिकारियों ने कोटे की दुकानों का औचक निरीक्षण किया तथा राशन का वितरण कराया। जिलाधिकारी ने बताया कि वर्तमान में जिले में  63 कोटे की दुकानें सम्बद्ध हैं जहां पर विशेष निगरानी रखी जा रही है। जिलाधिकारी ने जनपद के सभी कोटेदारों को स्पष्ट चेतावनी दी है कि सभी राशन कार्ड धारकों को हर हाल में उनकी मानक मात्रा के अनुरूप गल्ला दिया जाय तथा गरीबों का राशन गरीबों को ही मिले। जिलाधिकारी ने खाद्यान्न वितरण की मानीटरिंग जिला स्तर पर बनाए व्हाट्सएप गु्रप पर लगातार करते रहे। जिलाधिकारी ने बताया कि आगे भी खाद्यान्न वितरण पर सघन मानीटरिंग होती रहेगी ओर जल्द ही खाद्यान्न माफियाओं के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही होगी।

Share