नहीं की जानी चाहिए रक्षात्मक विषयों की राजनीति, भारतीय सेना की ताकत को जानती है पूरी दुनिया
मेरे बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया
Share

नहीं की जानी चाहिए रक्षात्मक विषयों की राजनीति, भारतीय सेना की ताकत को जानती है पूरी दुनिया

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. मावल लोकसभा क्षेत्र के उम्मीदवार डॉ. अमोल कोल्हे की प्रचार रैली में मैंने ही पाकिस्तान के बालाकोट और आतंकवाद के अन्य स्थानों को नष्ट करने का समर्थन मीडिया के सामने किया था, लेकिन मेरे बयान को गलत तरीके से प्रसारित किया गया है। मैंने इस बैठक में सलाह नहीं दी थी, लेकिन केंद्र सरकार से संबंधित नीति को सभी राजनीतिक दलों की सहमति से ही ऐसा किया जाएगा, मैंने ऐसा कहा था, पर मीडिया ने खबर दूसरी तरह से प्रसारित की। वहीं राकांपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद पवार ने मीडिया में चली खबरों को गलत बताया। वहीं दूसरी ओर शरद पवार ने सोमवार कहा है कि लोकसभा चुनाव के लिए रक्षात्मक विषयों की राजनीति नहीं की जानी चाहिए।

चर्चा की जरूरत नहीं…

पुलवामा की घटना के बाद, केंद्र सरकार ने दिल्ली में एक सर्वदलीय बैठक बुलाई थी। इस बैठक में, भारतीय सेना के साथ रहने के प्रस्ताव पर सर्वसम्मति से सहमति व्यक्त की गई थी। शरद पवार ने कहा इस बात की सहमति बनने में मेरी भी भूमिका थी। हम सभी को भारतीय सेना पर गर्व है। भारतीय सेना की ताकत को दुनिया जानती है। यह 1965 और 1971 के भारत-पाक युद्ध और बाद में कारगिल युद्ध में भारतीय सैनिकों ने अपने दमखम का जबर्दस्त प्रदर्शन किया था। इसलिए पुलवामा की घटना के होने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में कितने आतंकवादियों को भारतीय वायु सेना ने मार गिराया, इस पर चर्चा होने की कोई जरूरत नहीं है।

Share