अब डॉक्टरों और मरीजों के बीच होंगे अच्छे संबंध, जारी किए गए दिशा-निर्देश…

0
197
मरीजों की सुरक्षा का रखा गया ध्यान, डॉक्टरों पर विश्वास हुआ है कम
अब डॉक्टरों और मरीजों के बीच होंगे अच्छे संबंध
Share


मरीजों की सुरक्षा का रखा गया ध्यान, डॉक्टरों पर विश्वास हुआ है कम

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. कभी-कभी अस्पतालों और दवाखानों में डॉक्टरों और रोगियों के बीच यौन दुर्व्यवहार के मामले सुनने को मिलते हैं। ऐसे मामलों को रोकने के लिए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने एक मामले की पृष्ठभूमि के आधार पर एक नया दिशानिर्देश जारी किया है। मेडिकल काउंसिल के नए दिशा निर्देश के अनुसार, मरीजों की देखभाल करना डॉक्टरों की नैतिक जिम्मेदारी है। डॉक्टरों और रोगियों के बीच लैंगिक संबंध घातक हैं। इस तरह की घटनाओं सेमरीजों का डॉक्टरों पर विश्वास कम हो जाता है। इस दिशा निर्देश में यह उल्लेख किया गया है कि रोगियों के साथ संबंधों का उपयोग स्वयं, व्यवसाय या यौन संबंध के लिए नहीं किया जाना चाहिए।

रोगी की परिस्थितियों का फायदा उठाना गैरकानूनी…

जारी किए गए नए दिशा-निर्देश में मरीज की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है, जिसमें एक नर्स भी शामिल है। अगर रोगी को इलाज के दौरान बेहोश करने की आवश्यकता होती है तो एक नर्स भी होनी चाहिए। इस बारे में महाराष्ट्र मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष डॉ. शिवकुमार उत्तुरे ने कहा कि मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया ने पहले डॉक्टरों और मरीजों के व्यवहार पर दिशा-निर्देश दिए थे। अब यह केवल अपडेट किया गया है कि डॉक्टर और रोगी के रिश्ते को पवित्र बनाये रखना चाहिए। किसी बीमारी से पीड़ित रोगी की परिस्थितियों का फायदा उठाना गैरकानूनी कृत्य है।

Share