Share

सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेताओं ने बीते दिनों राज्यपाल सेकी थी मुलाकात

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. देश भर की तुलना में महामारी कोविड-19 (Covid-19) के सबसे ज्यादा केस महाराष्ट्र से सामने आए हैं। कोरोना वायरस की इस कठिन बेला में राज्य की राजनीति भी गरमाती जा रही है। इस मसले पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के नेताओं ने बीते दिनों महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी (BS Koshyari) से मुलाकात की, तो वहीं मंगलवार को महाविकास आघाड़ी सरकार के शिवसेना (Shivsena) के नेता और राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के मुखिया शरद पवार ने भी मुलाकात की। इसके बाद शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि मुलाकात के कोई राजनीतिक निहितार्थ न निकाले जाएं और राज्य की सरकार मजबूत स्थिति में है।

राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग…

भाजपा नेता व नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को सरकार पर आरोप लगाया कि राज्य सरकार महामारी से निपटने में सक्षम नहीं है। हालांकि उन्होंने यह आरोप खारिज किया कि पार्टी सरकार को अस्थिर करना चाहती है। वहीं पार्टी के अन्य नेताओं ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की।

केंद्र सरकार की पूरी मदद की जरूरत…
वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी से महाराष्ट्र में कोविड-19 के बढ़ते मामले के बारे में पूछा गया था, जहां पर कांग्रेस सत्तारूढ़ गठबंधन में शामिल है, तब उन्होंने कहा था कि सरकार चलाने और सरकार का समर्थन करने में अंतर होता है। राहुल ने कहा कि महाराष्ट्र सरकार को हम समर्थन दे रहे हैं और निर्णय लेने की अहम भूमिका में नहीं हैं। साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में महाराष्ट्र सरकार को केंद्र सरकार की पूरी मदद की जरूरत है।

बैठक नियमित होने का दावा…
राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी और सीएम उद्धव ठाकरे से प्रमुख शरद पवार के साथ उनकी मुलाकात की अटकलों के बीच दावा किया गया कि सरकार सुरक्षित है और फडणवीस पर ‘अधीर’ होने का आरोप लगाया। शिवसेना ने दावा किया कि दोनों के बीच यह बैठक नियमित थी।

Share