व्यापार का साधन बने विद्यालयों को तत्काल किया जाए प्रतिबंधित, प्रत्येक कक्षा में गरीबों के लिए हों 5 सीट : डीएम सिंह गहरवार

विद्यालयों के मनमानी फीस वसूली के खिलाफ मुख्यमंत्री को संबोधित जिलाधिकारी को सौंपा ज्ञापन, अवैध विद्यालयों पर हो कार्रवाई

– NDI24 नेटवर्क
भदोही. आज जिलाधिकारी भदोही आर्यका अखौरी को जनपद में संचालित अवैधानिक विद्यालयों तथा मनमानी फीस वसूली के खिलाफ जिले के युवा नेता डीएम सिंह गहरवार ने मुख्यमंत्री को संबोधित पत्र सौंपा, जिसमें पांच सूत्रीय मांगों को लेकर पत्रक दिया। पांच सूत्रीय मांगों में शिक्षा के अधिकार के तहत शासन द्वारा मान्यता प्राप्त विद्यालयों को गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा के लिए निर्देशित किया जाए। सभी विद्यालयों में प्रत्येक कक्षा में पांच सीट गरीब बच्चो के लिए आरक्षित किया जाए। जनपद में खेल कूद या किसी भी विधाओं में पुरस्कृत छात्रों को मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाए। बिना मान्यता के विद्यालयों पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें बंद कराया जाए निजी विद्यालयों की फीस सुविधानुसार निर्धारित कर अवैध वसूली को रोका जाए जैसे मांग पत्र सौंपकर अविलंब कार्रवाई की मांग की है।

पूर्ण बाजारीकरण होने में नहीं लगेगा समय…

डीएम सिंह गहरवार ने कहा की हमारे जनपद में निजी विद्यालयों की मनमानी फीस वसूली के कारण अभिभावक भय वश अपने बच्चों को विद्यालय भेजने से डर रहे हैं। इस पर लगाम नहीं लगाया गया तो व्यापार का साधन बना शिक्षा का पूर्ण बाजारीकरण होने में समय नहीं लगेगा। इस मौके पर मुख्य रूप से चौथीराम यादव, प्रभाकर सिंह, सत्य प्रकाश सिंह, आलोक ओझा, शिव नरेश यादव, संगीता जायसवाल, मुन्ना राव, धीरेन दुबे आदि लोग उपस्थित रहे।

Share