यूपी में भाकियू लोकशक्ति के कार्यकर्ताओं का जमावड़ा
Share

भाकियू लोकशक्ति के राष्ट्रीय आह्वान पर पूरे देश में प्रत्येक तहसीलों पर दिया गया ज्ञापन

– NDI24 नेटवर्क
खुर्जा. भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति की तरफ से खुर्जा तहसील पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत सरकार नई दिल्ली एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ के लिए खुर्जा के एसडीएम सहाब को ज्ञापन सौंपा गया। आज देश के किसान और मजदूर की हालत बहुत ही दयनीय हो गई है जिसका एक मुख्य कारण समय से पशु का गर्भ धारण ना करना यह भी है किसान प्रतिवर्ष 50000 रुपए की गाय व 80000 रुपए तक की भैंस खरीदता है, परंतु समय पर गर्भाशय में सूजन आने के कारण पशु गर्भ धारण नहीं कर पाता और मजबूरन उसे बेचना या आवारा छोड़ना पड़ता है। इसका मुख्य कारण खल में बीओसी मिट्टी की मिलावट व फूड कंपनी के द्वारा केमिकल मवेशी फूड तैयार करना तथा मवेशी डॉक्टर व दवाइयों की समय पर उपलब्धता ना होना है। अगर सरकार इस तरफ ध्यान देती है तो आवारा पशुओं में कमी आएगी और फसलों की सुरक्षा होगी और किसान के पशुपालन की हालत में भी  सुधार होगा!

देश भर में उठीं निम्नलिखित मांगें…

1. पशुओं के लिए डॉक्टर की उपलब्धता वह दवाइयों की पूर्ति वह मिलावटी चारे वह कल की जांच के लिए स्पेशल टीम गठित की जाए, ताकि पशुओं के बांझपन में कमिया आये तथा सरकार द्वारा कृत्रिम गर्भधारण की व्यवस्था की जाए !
2. प्राइवेट फैक्ट्रियों में ठेकेदारी बंद की जाए, ताकि जो कंपनी प्रति 6 महीने में मजदूरों का हटा देती है उस पर पूर्ण रुप से रोक लगे!
3. कर्ज माफी का लाभ सभी किसानों को दिया जाए, वह एक बार सभी किसानों को कर्ज मुक्त किया जाए!
4. पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के दायरे में लाया जाए !
5. घरेलू विद्युत बिल गांव देहात का शून्य रखा जाए !
6. यूरिया व डीएपी खाद के रेट को कंट्रोल में किया जाए!
7.किसान परिवार को शिक्षा स्वास्थ्य रोजगार में आरक्षण दिया जाए!
8. किसान एग्रीकल्चर ब्लॉक से खरीदने पर और डीलर पर रोक लगाई जाए, क्योंकि वह डेढ़ गुना रेट पर महंगा देता है !
9. मिट्टी की जांच सिर्फ और सिर्फ कागजों पर हो रही है, इस पर पारदर्शिता लाई जाए !
10. 2007 से 2014 तक खेती के काम करने के लिए सरकार द्वारा ट्रेक्टर ड्राइवर उपलब्ध कराए गए थे।

उच्चस्तरीय जांच…

ट्रेक्टर ड्राइवर कहां चल रहे हैं सरकार द्वारा इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए ! इसमें मुख्य रूप से दीपक चौधरी प्रदेश सचिव, राजेन्द्र सिंह, देवदत्त सिंह, जगवीर सिंह, अजीत सिंह, रामरतन सिंह, देवेंद्र सिंह, मांगेराम चौधरी, शाहरूख इदरीसी व सैंकड़ों किसान उपस्थित रहे।

Share