यूपीए की सरकार आने पर सबसे ज्यादा लोगों को नौकरियां देने की होगी कोशिश, कांग्रेस कार्यकाल में दी गई थीं लाखों नौकरियां
आवाम को स्मार्ट सिटी के नाम पर किया जा रहा गुमराह
Share

UPA की सरकार आने पर सबसे ज्यादा लोगों को नौकरियां देने की होगी कोशिश, कांग्रेस कार्यकाल में दी गई थीं लाखों नौकरियां

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. आज देश भर को मोदी सरकार आवाम को स्मार्ट सिटी और स्वच्छ भारत अभियान के नाम पर गुमराह कर रही है। इंडियन ओवरसीज कांग्रेस प्रमुख सैम पित्रोदा ने शनिवार को भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि लोगों को पहले बुनियादी सुविधाएं मिलनी चाहिए, लेकिन उन्हें स्मार्ट सिटी के नाम पर गुमराह किया जा रहा है। इसके सहारे सरकार अपना पीआर करने में जुटी है। देश में सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी है। कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में आईटी और टेलीकॉम सेक्टर का विकास कर लाखों लोगों को नौकरियां दी गई थीं, लेकिन मोदी सरकार में बेरोजगारी में बेतहाशा वृद्धि हुई है। पित्रोदा ने कहा कि यूपीए की सरकार आने के बाद हमारी कोशिश सबसे ज्यादा लोगों को नौकरी देने की होगी।

सेल्फ ड्राइव कार के चलन की सलाह…

पित्रोदा ने कहा कि न्यूनतम आय योजना के तहत गरीबों को सालाना 72 हजार रुपये देने के लिए कांग्रेस की सरकार पैसों का इंतजाम करेगी। जब हमने राष्‍ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी को लागू किया था। उस समय भी फंडिंग को लेकर सवाल उठे थे, लेकिन हमनें उसे पूरा किया। मुंबई में ट्रैफिक की समस्या के समाधान के लिए सेल्फ ड्राइव कार के चलन को अपनाने की सलाह दी है। इससे मालिक अपने कार को घरों में पार्क करने की जगह इसका इस्तेमाल कैब के रूप में कर सकते हैं। इससे पब्लिक ट्रांसपोर्ट के विकल्प बढ़ जाएंगे और लोग खुद की गाड़ी खरीदना कम करे देंगे, जिससे ट्रैफिक व प्रदूषण की समस्या भी दूर होगी।

Share