भारत की जीत के लिए दिनेश कार्तिक छक्का लगाकर मैच खत्म कर दिया
देश के इस होनहार क्रिकेटर ने आखिरी समय में भारत को दिलाई जीत
Share

भारत की जीत के लिए दिनेश कार्तिक ने छक्का लगाकर मैच खत्म कर दिया

– NDI24 नेटवर्क

नई दिल्ली. टीम इंडिया ने फाइनल मुकाबले में बांग्लादेश को 4 विकेट से हरा दिया। साथ ही टीम इंडिया ने निदहास टी-20 ट्राई सीरीज की ट्रॉफी पर कब्जा जमा लिया है। इस मैच के हीरो दिनेश कार्तिकेय रहे। उन्होंने 8 गेदों पर 29 रन बनाए। दिनेश कार्तिकेय ने आखिरी गेंद पर छक्का मार टीम इंडिया को जीत दिलाई। पारी की अंतिम बॉल पर भारत को जीत के लिए 5 रन चाहिए थे और दिनेश कार्तिक छक्का लगाकर मैच खत्म कर दिया। 19वें ओवर में बल्लेबाजी करने आए कार्तिक ने मात्र 8 गेंदे खेलीं और 3 छक्कों, 2 चौकों की मदद से 29 रन ठोंक बांग्लादेश को हरा दिया। कार्तिक जब बैटिंग करने आए थे तो टीम इंडिया को जीत के लिए 12 बॉल पर 34 रन की दरकार थी। सबको लग रहा था कि भारत इस मैच को जीतने में कामयाब नहीं रहेगा, लेकिन उन्होंने पहले रुबेल हुसैन के ओवर में दो चौके और दो छक्के जड़कर 22 रन ठोक डाले। इसके बाद अंतिम ओवर में भारत को जीत के लिए 12 रन चाहिए थे। बांग्लादेश की ओर से अंतिम ओवर सौम्य सरकार करने आए और सामने स्ट्राइक पर विजय शंकर होते हैं। सरकार पहली बॉल वाइड फेंकते हैं और अब टीम इंडिया को जीतकर के लिए 11 रन चाहिए थे। इसकी अगली बॉल पर शंकर रन बनाने से चुक जाते हैं, लेकिन दूसरी बॉल पर वह किसी तरह एक रन बनाने में कामयाब रहते हैं और स्ट्राइक कार्तिक के पास आ जाती है।

निदहास ट्रॉफी जीतने में कामयाबी

जिस तरह से कार्तिक रन बना रहे थे, उसे देखते हुए लग रहा था अगली बॉल पर वह बाउंड्री मारने में कामयाब रहेंगे। लेकिन ऐसा नहीं होता है और उन्हें एक रन से संतोष करना होता है। ओवर की चौथी बॉल पर शंकर चौका लगाने में कामयाब रहते हैं। अब भारत को चैंपियन बनने के लिए अंतिम दो बॉल पर 5 रन चाहिए थे, लेकिन शंकर 5वीं बॉल पर कैच आउट हो जाते हैं पर अच्छी बात यह रहती है कि स्ट्राइक कार्तिक के पास आ जाती है। अब टीम इंडिया को एक बॉल पर जीतने के लिए 5 रन चाहिए थे और सामने कार्तिक खड़े होते हैं। सरकार ऑफ स्टंप के बाहर फुल लेंथ की गेंद फेंकते हैं, जिसे कार्तिक ऑफ स्टंप पर आकर एक्सट्रा कवर पर छक्का मारने में कामयाब रहते हैं और इसी के साथ भारत निदहास ट्रॉफी जीतने में कामयाब रहता है।

Share