कोरोना के दवाइयों की कमी की समस्या को इस तरह दूर करेगी एमएसएन लैबोरेट्रीज, 'फेवीलो 800 एमजी' टैबलेट्स

फेरीपीरवीर एंटीवायरल दवाई की कमी की समस्या होगी दूर, फ्री होम डिलीवरी की सेवा भी

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई.
एमएसएन लैबोरेट्रीज प्राइवेट लिमिटेड (एमएसएन लैब्स) भारत की अग्रसर एकीकृत फार्मास्युटिकल कंपनी (Pharmaceutical Company) ने कोविड-19 (Covid-19) की वजह से आए हुए सौम्य और मध्यम बुखार पर इलाज के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले फेरीपीरवीर एंटीवायरल (Favipiravir Antiviral) दवाई की कमी की समस्या को दूर करने के लिए अपनी ब्रांडेड जेनेरिक फेवीलो 800 एमजी (Favilow 800 mg) टैबलेट्स लाने का ऐलान किया है। हर फार्मेसी में यह दवाई उपलब्ध होगी। मरीज़ों की सुविधा के लिए एमएसएन लैब्स (MSN Labs) की फिल्ड टीम भी स्थानीय रिटेल केमिस्ट्स के सहयोग से 170 से ज़्यादा शहरों में इस दवा की फ्री होम डिलीवरी की सेवा देने में मदद कर रही है।

देश की ताकत बढ़ाएगा : डॉ. एमएसएन रेड्डी

एमएसएन ग्रुप के सीएमडी डॉ. एमएसएन रेड्डी (Dr. MSN Reddy) ने बताया कि भारत में कोविड-19 की केसेस बढ़ रही हैं, स्थिति पर काबू पाने के लिए इलाज के किफायती विकल्प उपलब्ध होना बहुत ही ज़रूरी है। हमें पूरा विश्वास है कि हमारा उत्पाद फेवीलो 800 कोविड के खिलाफ लड़ाई में देश की ताकत बढ़ाएगा।

मरीज़ों की समस्याएं होंगी दूर…

एमएसएन ने फेवीपिरवीर का दुनिया में सबसे किफायती ब्रांडेड जेनेरिक फेवीलो (200 और 400 एमजी) पिछले साल के अगस्त महीने में दाखिल किया था। एमएसएन का दावा है कि, दवाई की शक्ति (स्ट्रेंग्थ) को बढ़ाए जाने से मरीज़ को हर दिन लेने पड़ रही टैबलेट्स की संख्या कम होकर मरीज़ द्वारा दवाइयों के अनुपालन और उन्हें मिलने वाले अनुभव में सुधार होंगे। यह दवा कोविड-19 की दवाइयों की कमी के कारण मरीज़ों को सहनी पड़ रही समस्याओं को भी दूर करेगी।

1 लाख से ज्यादा डोसेस : भारत रेड्डी

एमएसएन ग्रुप के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर भारत रेड्डी (Bharat Reddy) ने बताया कि पिछले पंदरह दिनों में एमएसएन कोविड-19 पर इलाज़ के लिए 1 लाख से ज्यादा डोसेस रेजिमे (फेवीलो की अलग-अलग स्ट्रेंग्थ्स की *स्ट्रिप्स) का उत्पादन कर रहा है। अगले महीने तक उत्पादन की मात्रा को 6 से 8 लाख डोसेस रेजिमे तक (फेवीलो की अलग-अलग स्ट्रेंग्थ्स की 30 लाख स्ट्रिप्स) बढ़ाया जाएगा।

DCGI से मिली मंजूरी…

एमएसएन की फेरीपिरवीर 800 एमजी उच्च क्षमता को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ़ इंडिया (Drugs Controller General of India) (डीसीजीआई) ने मंज़ूरी दी है। एमएसएन ने फेवीलो 800 एमजी के लिए एक्टिव फार्मास्युटिकल इंग्रेडिएंट (एपीआई) और फॉर्म्युलेशन अपनी अनुसंधान एवं विकास और विनिर्माण यूनिट्स में सफलतापूर्वक विकसित किया है। फेवीलो के एपीआई और एफडीएफ अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता मानकों के मुताबिक हैं।

1000 से ज़्यादा मरीज़ों को सहायता : आशीष गुप्ता

सीनियर वाईस प्रेसिडेंट डोमेस्टिक फॉर्म्युलेशन आशीष (Ashish Gupta) गुप्ता ने बताया कि फेवीलो आसानी से हर जगह उपलब्ध हो सकें और दवाइयों की कमी की वर्तमान समस्या दूर हों इसलिए एमएसएन टीम देश भर के डॉक्टर्स, हॉस्पिटल्स और मरीज़ों के साथ संपर्क कर रही है। फेवीलो हेल्पलाईन पहल के जरिए करीबी केमिस्ट्स से दवाई उपलब्ध कराकर 1000 से ज़्यादा मरीज़ों को इसके पहले ही सहायता दी गयी है।

Share