UP सरकार का बड़ा फैसला : सिंगापुर की ई-कामर्स कंपनी बेचेगी UP के ODOP उत्‍पादUP सरकार का बड़ा फैसला : सिंगापुर की ई-कामर्स कंपनी बेचेगी UP के ODOP उत्‍पाद
Share

कंपनी ने MSME विभाग को ईमेल कर मांगी उत्‍पादों की सूची

– NDI24 नेटवर्क
लखनऊ.
उत्‍तर प्रदेश सरकार के एक जनपद, एक उत्‍पाद योजना के लिए किए जा रहे है प्रयासों के चलते यहां के उत्‍पादों ने अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर अपनी पहचान बनाना शुरू कर दी है। विदेशियों को यूपी के जिलों में बनने वाले उत्‍पाद काफी भा रहे हैं। इसी क्रम में सिंगापुर की ऑनलाइन उत्‍पाद बेचने वाली सबसे बड़ी कंपनी ने सूक्ष्‍म मध्‍यम एवं लघु उद्योग विभाग से एक जनपद, एक उत्‍पाद के तहत बनने वाले उत्‍पादों की बिक्री करने की इच्‍छा जताई है। कंपनी का कहना है कि ओडीओपी के उत्‍पाद यहां लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। कंपनी की ओर से एमएसएमई विभाग को ईमेल करके एक जनपद, एक उत्‍पाद के तहत बनने वाले उत्‍पादों की सूची मांगी गई है। कंपनी की ओर से भेजे गए ईमेल में ओडीओपी की काफी तारीफ की गई है।

एक जनपद-एक उत्‍पाद योजना…

कंपनी के मुताबि‍क ओडीओपी के उत्‍पाद हर किसी को अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। उनकी कंपनी भी इन उत्‍पादों को अपने ऑनलाइन प्‍लेटफार्म से बेचना चाहती है। यूपी के अलग-अलग जिलों में बनने वाले उत्‍पादों को एक नई पहचान देने के लिए उत्‍तर प्रदेश सरकार ने एक जनपद-एक उत्‍पाद योजना की शुरुआत की है।

उद्योग को मिली एक नई पहचान…

इस योजना का लाभ बड़े पैमाने पर कामगारों को मिल रहा है। यही नहीं, यूपी सरकार के प्रयासों से उनके बनाए उत्‍पादों को अन्‍तर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर पहचान मिल पा रही है। इससे लखनऊ की चिकनकारी, जरदोजी, मुरादाबाद का पीतल उद्योग, कन्‍नौज का इत्र, भदोही के कालीन उद्योग को एक नई पहचान मिली है।

Share