समिति से विचार-विमर्श के बाद प्रतिनिधि शुल्क की घोषणा
दिल्ली में वीर सावरकर जयंती 28 मई को, हिन्दू महासभा का यह है बड़ा कार्यक्रम

जंतर मंतर पर ‘हिंदू राष्ट्र निर्माण संकल्प समारोह’, सनातन धर्म के प्रति जागरूक बनाने का संकल्प

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई.
अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र कुमार द्विवेदी की अध्यक्षता में हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय पदाधिकारियों और प्रदेश अध्यक्षों की वर्चुअल बैठक संपन्न हुई। बैठक का संचालन गुजरात प्रदेश अध्यक्ष मितेष भाई पटेल ने किया। बैठक में नई दिल्ली के जंतर मंतर पर ‘हिन्दू राष्ट्र निर्माण संकल्प समारोह’ आयोजित करने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी त्रिदंडी जी महाराज के नेतृत्व में होने वाले समारोह को सफल बनाने के लिए प्रदेशाध्यक्षों को बड़ी संख्या में जनबल जुटाने का निर्देश दिया गया। बैठक में शामिल पदाधिकारियों ने राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी त्रिदंडी जी महाराज के नेतृत्व में महासभा की गुटबाजी को समाप्त करने, हिन्दू महासभा को आर्थिक और राजनीतिक रूप से सबल बनाने, हिन्दू समाज को सनातन संस्कृति और सनातन धर्म के प्रति जागरूक बनाने समेत भारत को हिन्दू राष्ट्र बनाने का संकल्प लिया गया।

कोरोना की आड़ में भारतीय संस्कृति पर कुठाराघात : आचार्य विजय प्रकाश मानव

हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री आचार्य विजय प्रकाश मानव ने अपने संबोधन में कोरोना महामारी की आड़ में कुंभ मेला और हिन्दू तीज त्योहारों को प्रतिबंधित करने पर अपना आक्रोश व्यक्त किया। उन्होंने प्रश्न उठाया कि पश्चिम बंगाल और अन्य राज्यों के विधानसभा चुनाव में आयोजित चुनाव रैलियों में लाखों लोगों के शामिल होने पर कोरोना नहीं फैलता, लेकिन कुंभ मेला और हिन्दू तीज त्योहारों पर जुटने वाले भक्तों से कोरोना फैल जाता है। उन्होंने स्पष्ट कहा कि कोरोना की आड़ में भारतीय संस्कृति पर कुठाराघात किया जा रहा है , जिसे हिन्दू महासभा किसी भी कीमत पर सहन नहीं करेगी ।

प्रत्येक हिन्दू से 10 रुपये की संकल्प निधि : ऋषि त्रिवेदी

हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय मंत्री निमेष भाई खंबायता ने अपने संबोधन में कहा कि हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी त्रिदंडी जी महाराज के मार्ग दर्शन और राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र कुमार द्विवेदी के नेतृत्व में वह और अन्य हिन्दू महासभा कार्यकर्ता अपना बलिदान देकर भी हिन्दू धर्म की रक्षा और हिन्दू महासभा का विस्तार करने के लिए तैयार हैं। उत्तर प्रदेश अध्यक्ष ऋषि त्रिवेदी ने हिन्दू राष्ट्र निर्माण के लिए प्रत्येक हिन्दू से 10 रुपये की संकल्प निधि लेने और गुजरात प्रदेश आईटी सेल के कार्यकर्ता व्यास ने हिन्दू महासभा की आर्थिक छवि सुदृढ़ बनाने के लिए प्रत्येक कार्यकर्ता से एक रुपया प्रतिदिन अर्थात 30 रुपये प्रतिमाह लेने का प्रस्ताव रखा, जिसे सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया।

दिल्ली प्रदेश के पूर्ण योगदान का आश्वासन : विजेंद्र सिंह राजू पार्चा

आंध्र प्रदेश अध्यक्ष बी जानकीराम ने अपने संबोधन में हिन्दू महासभा के संगठनात्मक ढांचा को मजबूत बनाने और भारतीय निर्वाचन आयोग से जुड़े प्रश्न उठाए, जिनका समाधान राष्ट्रीय पदाधिकारियों द्वारा प्रस्तुत किया गया। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विजेंद्र सिंह राजू पार्चा ने अपने संबोधन में दिल्ली प्रदेश की गतिविधियों को जानकारी देते हुए 28 मई के समारोह को सफल बनाने में दिल्ली प्रदेश के पूर्ण योगदान का आश्वासन दिया।

प्रदेश अध्यक्षों से आह्वान : रवींद्र कुमार द्विवेदी

हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष रवींद्र कुमार द्विवेदी ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में विश्वास व्यक्त किया की अयोध्या की राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में गठित समिति के माध्यम से हिन्दू महासभा के सभी गुटों से वार्ता कर गुटबाजी को समाप्त करने का सार्थक प्रयास किया जाएगा। उन्होंने न्यायिक वाद से जुड़ी जानकारी पदाधिकारियों को दी और उनसे 28 मई के समारोह को सफल बनाने का प्रदेश अध्यक्षों से आह्वान किया। साथ ही सभी प्रदेशों को 13 अप्रैल को हिन्दू महासभा का 107वां स्थापना दिवस और हिन्दू नव वर्ष एक साथ भव्यता से मनाने का निर्देश दिया।

हिन्दू महासभा को भाजपा का विकल्प बनाने का उद्घोष…

बैठक में हिन्दू महासभा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष आरती दीक्षित, हरियाणा के अध्यक्ष आर के शर्मा, हिमाचल प्रदेश अध्यक्ष नरेश सिंह, महाराष्ट्र के अध्यक्ष निरंजन दीक्षित, प्रदेश उपाध्यक्ष मधुसूदन तिवारी, पांडिचेरी के अध्यक्ष राजा थंडापनी, गुजरात अध्यक्ष निमेष भाई पटेल, जम्मू कश्मीर अध्यक्ष जगजीत सिंह जसरेतिया, गुजरात महिला सभा अध्यक्ष वर्षा पंडित, केरल अध्यक्ष सतीश कुमार एमएस, उत्तर प्रदेश प्रभारी शिवपूजन दीक्षित, महाराष्ट्र प्रभारी अधिवक्ता रणधीर सकपाल, हिन्दू अधिवक्ता सभा दक्षिण भारत प्रभारी अधिवक्ता श्रीदेवी समेत विभिन्न पदाधिकारियों ने अपने विचार प्रकट करते हुए हिन्दू महासभा को भाजपा का विकल्प बनाते हुए देश की प्रमुख राजनीतिक शक्ति के रूप में स्थापित करने का उद्घोष किया ।

Share