वर्ष 2019 की तुलना में 2020 में दुर्घटनाओं की संख्या में 65 प्रतिशत की गिरावट आई

NDI24 नेटवर्क
मुंबई. मुंबई की उपनगरीय लोकल ट्रेन मुंबई की जीवन रेखा है। प्रतिदिन 80 लाख से अधिक यात्री उपनगरीय ट्रेनों में यात्रा कर रहे थे, लेकिन कोरोना महामारी के कारण मार्च 2020 से लोकल ट्रेन की यात्रा सामान्य यात्रियों के लिए प्रतिबंधित कर दिया गया है। जिसके कारण वर्ष 2019 की तुलना में 2020 में दुर्घटनाओं की संख्या में 65 प्रतिशत की गिरावट आई है, यह जानकारी सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत प्राप्त की गई है।

पूरा वीडियो देखिए यहां…

जन सूचना अधिकारी से जानकारी…


आरटीआई कार्यकर्ता शकील अहमद शेख ने मुंबई रेलवे पुलिस से जानकारी मांगी थी कि जनवरी 2020 से दिसंबर 2020 तक मुंबई उपनगरीय ट्रेन से गिरकर या पटरियों को पार करते हुए कितने लोग मारे गए या घायल हुए। मुंबई रेलवे पुलिस के जन सूचना अधिकारी ने इस संबंध में जानकारी प्रदान की है।

पश्चिमी रेलवे मार्ग पर कुल 369 यात्री मारे गए…


जानकारी के मुताबिक, मुंबई उपनगरीय रेलवे ट्रेन से गिरने या पटरियों को पार करने के दौरान 1116 यात्रियों ने अपनी जान गंवा दी, जिसमें 983 पुरुष और 133 महिला यात्री थे। साथ ही 878 यात्री घायल हुए, जिसमें 688 पुरुष और 190 महिला यात्री शामिल हैं। मध्य रेलवे लाइन पर कुल 523 यात्री मारे गए और 747 घायल हुए। इसके अलावा, पश्चिमी रेलवे मार्ग पर कुल 369 यात्री मारे गए और 355 घायल हुए।

किस कारण से कितनी मौतें और चोटें…

  • पटरी पार करते समय 730 यात्री मारे गए, 129 घायल हुए
  • चलती गाड़ी से गिरने से 177 यात्रियों की मौत, 361 घायल
  • रेलवे पोल से टकराकर गिरने से 2 यात्रियों की मौत हो गई और 12 अन्य घायल हो गए।
  • प्लेटफार्म पर गिरने से 1 यात्री की मौत, 7 घायल
  • बिजली के झटके में 4 की मौत, 7 घायल
  • आत्महत्या से 27 यात्रियों की मौत
  • नैसर्गिक बीमारियों के कारण 167 यात्रियों की मौत 114 घायल
  • अन्य कारणों में 6 यात्रियों की मौत और 155 घायल ।
  • अज्ञात कारणों से 2 यात्रियों की मौत, 1 घायल।

24534 यात्रियों की जान गई…


वहीं 2013 से 2019 तक मुंबई उपनगरीय रेलवे ट्रैक पर पटरियों को पार करने के दौरान कुल 24534 यात्रियों ने अपनी जान गंवाई और कुल 26675 यात्री घायल हुए।

किस वर्ष कितनी मौतें और चोटें

2013 में कुल 3506 यात्री मारे गए और 3318 घायल हुए।

  • 2014 में कुल 3423 यात्री मारे गए और 3299 घायल हुए।
  • 2015 में कुल 3304 यात्री मारे गए और 3349 घायल हुए।
  • 2016 में कुल 3202 यात्री मारे गए, 3363 घायल हुए।
  • 2017 में कुल 3014 यात्री मारे गए, 3345 घायल हुए।
  • 2018 में कुल 2981 यात्री मारे गए और 3349 घायल हुए।
  • 2019 में कुल 2664 यात्री मारे गए, 3158 घायल हुए।

कब ध्यान देगा रेलवे प्रशासन : शकील अहमद शेख


आरटीआई कार्यकर्ता शकील अहमद शेख के अनुसार, मुंबई उच्च न्यायालय ने रेलवे पटरियों के दोनों ओर सुरक्षा दीवारों के निर्माण का आदेश दिया है, लेकिन रेलवे प्रशासन ने इस ओर ध्यान नहीं दिया और इसकी अनदेखी कर रहा है। शकील अहमद शेख ने रेल मंत्री पीयूष गोयल और रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष से पूछा है कि और कितने यात्रियों की मौत के बाद रेलवे प्रशासन इस पर ध्यान देगी।

Share