Mhada प्रशासन को सताने लगी मानसून के दौरान संक्रमण शिविर की कमी की आशंका

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई.
देश भर में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मामलों के बाद से महाराष्ट्र गृह निर्माण क्षेत्र विकास प्राधिकरण (म्हाडा) (Maharashtra Housing and Area Development Authority) की बहुत सी इमारतों का क्वारंटाइन सेंटर (Quarantine Center) में परिवर्तित कर दिया गया है। Mhada प्रशासन को मानसून के दौरान संक्रमण शिविर (Transit Camp) की कमी होने की आशंका सताने लगी है। इस समस्या से निपटने के लिए म्हाडा रिपेयर बोर्ड (Mhada Repair Board) के सभापति विनोद घोसालकर (Vinod Ghosalkar) ने बताया कि प्राधिकरण ने बारिश के दौरान कुछ ट्रांजिट कैम्पों को आरक्षित करने की योजना बनाई है। साथ ही उन्होंने मुंबईकरों से रक्त दान की भी अपील की है।

पूरा वीडियो देखें यहां…

संबंधित खबरें…

बिल्डरों की अब ख़ैर नहीं, Mhada ने पूरी कर ली यह तैयारी : जितेंद्र आव्हाड

Mhada Update : छत से गिर रहा पानी, शिकायत के बावजूद म्हाडा और पुलिस उदासीन

…ताकि मानसून में लोगों को न हो दिक्कत

विदित हो कि मानसून के दौरान प्रति वर्ष देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में इमारत ढहने के मामले सामने आते रहते हैं। दुर्घटना के दौरान इमारत में रहने वाले मुंबईकरों को म्हाडा के ट्रांजिट कैंप में शिफ्ट किया जाता है। मौजूदा समय में म्हाडा के सैकड़ों फ्लैट में कोरोना वायरस ओं को रखा गया है। मानसून के दौरान होने वाली दुर्घटनाओं के समय प्राधिकरण को नागरिकों को शिफ्ट करने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

संबंधित खबरें…

Mhada Update : छत से गिर रहा पानी, शिकायत के बावजूद म्हाडा और पुलिस उदासीन

Mhada ने लॉटरी के घरों की बढ़ाई कीमत, विजेताओं को अब 3.5 लाख रुपये की लगेगी चपत

विशेष तौर पर आरक्षित करने पर भी विचार…

म्हाडा रिपेयर बोर्ड के सभापति विनोद घोसालकर ने बताया कि मानसून को लेकर विभाग ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। आपदा के समय घरों की कमी नहीं होगी इस संदर्भ में कुछ ट्रांजिट कैंप को बारिश के लिए विशेष तौर पर आरक्षित करने पर भी विचार किया जा रहा है और जल्द ही इस पर निर्णय भी ले लिया जाएगा।

संबंधित खबरें…

Mhada की अभय योजना का असर, 28 दिनों में जमा हुए 3 करोड़ 84 लाख रुपए : विनोद घोसालकर

MHADA कोंकण बोर्ड निकालेगी 7500 घरों की लॉटरी, MMR रीज़न में यहां उपलब्ध होंगे फ्लैट्स

56 कॉलोनियों में करीब 13 हजार इमारतें शामिल…

मानसून पूर्व तैयारी के तौर पर म्हाडा ने अपनी सभी इमारतों का सर्वे का काम शुरू कर दिया है। बकौल विनोद घोसालकर के अनुसार, 22 प्रतिशत इमारतों का सर्वे का काम पूरा हो गया है। अब तक किसी भी इमारत में खामी नहीं मिली है। अधिकारियों को जून से पहले सर्वे का काम पूरा करने का आदेश दिया गया है। म्हाडा की 56 कॉलोनी और इन कॉलोनियों में करीब 13 हजार इमारतें शामिल हैं।

संबंधित खबरें…

MHADA के कोंकण मंडल की ओर से 109 पुलिस कर्मियों को घर, जितेंद्र आव्हाड ने किए वितरित

Mhada की पुणे में 5647 घर के लिए लॉटरी, लाभार्थियों के नाम देखिए यहां

शिविर आयोजित करने का भी निवेदन : विनोद घोसालकर

कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों के बीच अस्पतालों में हो रही रक्त की कमी को दूर करने के लिए म्हाडा सभापति ने लोगों को रक्तदान करने की भी अपील की है। मुंबई के हजारों गणेश मंडलों से सभी नियमों का पालन करते हुए रक्तदान की अपील करते हुए शिविर आयोजित करने का भी निवेदन किया गया है, ताकि शहर में खून की कमी को दूर किया जा सके।

संबंधित खबरें…

ट्रांजिट कैंप में अनाधिकृत लोग, गृह निर्माण विभाग की इंक्वायरी से MHADA में हड़कंप

MHADA के IAS अधिकारियों के विश्राम गृह का विरोध!, गणेश आडीवरेकर जाएंगे न्यायालय

म्हाडा का सही समय पर निर्णय…

म्हाडा को बारिश के दिनों में इमारत ढहने या किसी खतरनाक इमारत को खाली कराए जाने पर वहां के निवासियों को रहने के लिए ट्रांजिट कैंप की जरूरत होती है। कई इमारतों को क्वारंटाइन सेंटर में तब्दील करने से उसके लिए बारिश में जरूरत पड़ने पर संक्रमण शिविर की कमी हो सकती है। इस कमी को दूर करने के लिए उसका कुछ इमारतों को आरक्षित करना सही समय पर लिया गया निर्णय है। साथ ही महामारी के दौरान इस तरह के फैसले इसी तरह से लिये जाने चाहिए।

Share