Western Railway : महाप्रबंधक ने किया अहमदाबाद मंडल का निरीक्षण, आलोक कंसल ने लिया जायजा

रेल प्रबंधक और संबंधित शाखा अधिकारी और मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल

– NDI24 नेटवर्क
मुंबई. पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आलोक कंसल ने हाल ही में अहमदाबाद मंडल के अपने दौरे के दौरान अहमदाबाद स्टेशन पर यात्री सुविधाओं के विभिन्न प्रमुख मानकों का निरीक्षण किया और अहमदाबाद मंडल में चल रहे विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा की। श्री कंसल ने निरीक्षण के लिए डीजल लोको शेड और एकीकृत कोचिंग डिपो, साबरमती का भी दौरा किया और कई सुविधाओं का उद्घाटन किया। जीएम के साथ अहमदाबाद मंडल के मंडल रेल प्रबंधक और संबंधित शाखा अधिकारी और मुख्यालय के वरिष्ठ अधिकारी भी शामिल थे।

डीजल शेड में विभिन्न मशीनरी की पड़ताल…

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित के अनुसार, महाप्रबंधक आलोक कंसल ने डीजल शेड में विभिन्न मशीनरी और उपकरणों का बारीकी से निरीक्षण किया। जीएम ने सिम्युलेटर ट्रेनिंग सेंटर का भी निरीक्षण किया और सिम्युलेटर का ट्रायल रन चलाया। तत्पश्चात, उन्होंने एकीकृत कोचिंग डिपो का निरीक्षण किया और जैव एवं डीजल प्रयोगशाला का उद्घाटन किया। कंसल ने डीजल शेड के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की और व्यवस्था की कार्यप्रणाली में सुधार के लिए आवश्यक निर्देश दिये। इस अवसर पर कंसल ने डीजल शेड उद्यान में वृक्षारोपण अभियान की शुरुआत की और नव विकसित स्प्रिंकलर प्रणाली के साथ-साथ व्यायाम उद्यान का उद्घाटन किया, जो इन-हाउस निर्मित उपकरणों से सुसज्जित है।

यात्री सुविधाओं और जीरो टॉलरेंस पर जोर…

ठाकुर ने बताया कि कंसल ने असारवा में नवनिर्मित मुख्य परियोजना प्रबंधक (सीपीएम) कार्यालय का उद्घाटन भी किया। इसके बाद, उन्होंने रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल), रेलवे विद्युतीकरण (आरई) के साथ-साथ मंडल के निर्माण विभाग जैसी विभिन्न एजेंसियों द्वारा मंडल में महत्वपूर्ण लक्षित परियोजनाओं की स्थिति की समीक्षा की। बैठक में उपस्थित अधिकारियों को सम्बोधित करते हुए श्री कंसल ने आह्वान किया कि ‘राष्ट्र सर्वप्रथम, सर्वदा प्रथम’ हमेशा हमारा आदर्श वाक्य होना चाहिए और हमारे राष्ट्र की प्रगति सर्वोपरि होनी चाहिए। इस दिशा में उन्होंने कहा कि लागत और समय की अधिकता से बचने के लिए निर्धारित लक्ष्य तिथि के भीतर चल रही परियोजना के कार्यों को पूरा करना नितांत आवश्यक है। इसके अलावा, जीएम ने कहा कि हमें बिना किसी भेदभाव के सामाजिक सद्भाव का माहौल बनाना चाहिए और सभी के साथ समान व्यवहार करना चाहिए। उन्होंने संरक्षा, यात्री सुविधाओं और जीरो टॉलरेंस पर जोर दिया।

प्रोत्साहन योजनाओं का मिलेगा लाभ…

‘हंगरी फॉर कार्गो’ की अवधारणा पर बोलते हुए कंसल ने डिवीजन को माल ढुलाई बढ़ाने के लिए अपने ठोस कदम बढ़ाने का निर्देश दिया। उन्होंने इस बात पर प्रकाश डाला कि रेलवे परिवहन का एक ऐसा सुलभ तरीका है, जो एक स्थान से दूसरे स्थान पर तेजी से और सस्ती दरों पर माल परिवहन और वितरण सुनिश्चित कर सकता है। इसलिए हमें अधिक से अधिक ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए इस क्षमता का अनुदोहन करने में सक्षम होना चाहिए। साथ ही माल ढुलाई को बढ़ावा देने के लिए उन्हें प्रोत्साहन योजनाओं का लाभ भी प्रदान कर सकते हैं।

Share