भाजपा-शिवसेना विचारों की युति है : CM फडणवीस, 'यह हमारी जीत का इवेंट मैनेजमेंट कार्यक्रम है'
युति ने कोल्हापुर से किया चुनाव प्रचार का आगाज
Share

भाजपा-शिवसेना विचारों की युति है : CM फडणवीस, ‘यह हमारी जीत का इवेंट मैनेजमेंट कार्यक्रम है’

– NDI24 नेटवर्क

मुंबई. भाजपा-शिवसेना के बीच हुई युति विचारों का गठबंधन है। युति होने के बाद से हिंदुत्ववादी दलों में खुशी की लहर है। राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कोल्हापुर में शिवसेना के साथ मिलकर एक सभा के संबोधन में विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा कि हम सत्ता लाभ के लिए नहीं, बल्कि विचारों और विकास योजनाओं के लिए फिर एक हुए हैं। युति होने से विरोधी पक्ष पेरशान हो गया है। वहीं सभा में मौजूद केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने कहा कि महागठबंधन इतना कमजोर हो गया है कि उसे 56 इंज के सीने से टकराने के लिए 56 मित्र दलों को साथ आना पड़ा। वहीं शिवसेना प्रमुख इस सभा में कहा कि ये हमारा जीत का इवेंट मैनेजमेंट कार्यक्रम है।

सभी चोर महागठबंधन में…
वहीं मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा के कार्यकाल में जनधन खाते खोले गए, शौचालयों की स्थापना हुई। आज महिलाओं से पूछो कि उन्हें बाहर जाने में कितना बुरा लगता था। किसानों के खातों में सीधे पैसा भेजा गया। चार वर्षों के दौरान एफआरपी के लिए कोई भी आंदोलन नहीं किया गया है। हमने लोगों के विकास के लिए काम किया है, जिसका सरकार का अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। सूर्य के समान मोदी ने 31 रुपये की न्यूनतम दर पैकेज दिया। फिर भी अगर आप सूर्य की ओर देखकर थूकते हैं तो वह आप पर ही गिरेगा। अगर हम इवेंट मैनेजमेंट कंपनी है तो विरोधी दल भ्रष्टाचार मैनेजमेंट कंपनी हैं। वहीं राजू शेट्टी पर निशाना साधते हुए फडणवीस ने कहा कि सभी चोर एक ही महागठबंधन में शामिल हो गए हैं।

एक ओर सारे रंग, एक तरफ हमारा भगवा : उद्धव ठाकरे…

‘शिवसेना जिंदाबाद’, ‘महायुति विजय विजय’, ‘कौन आए रे कौन आए, शिवसेना का बाघ आए?’ जैसे नारों के साथ शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने विरोधियों को ललकारते हुए कहा कि अब सियासी घमासान का आगाज हो चुका है। एक ओर सारे रंग हैं तो वहीं दूसरी तरफ भगवा रंग ही लोगों को दिख रहा है। शिवाजी ने आम आदमी को असामान्यताएं देने के साथ ही मथाडी कार्यकर्ताओं को सांसद बनाकर दिल्ली भेजने तक का काम किया है। वहीं सभा के दौरान ही उन्होंने सीएम फडणवीस से पवार को भाजपा में न लेने का अग्रह भी किया। हमें गरीबों के लिए हक के लिए और मजबूत देश निर्माण के लिए सत्ता चाहिए। सत्ता में आने पर इस बार हमें पूरा विश्वास है कि राम मंदिर बनेगा। अगर आप राकांपा को वोट देने जा रहे हैं तो अजीत पवार के भ्रष्टाचारों को याद रखिए। वहीं सीएम फडणवीस के ओर इशारा करते हुए कहा कि हमारी युति लोकसभा के अलावा विधानसभा में भी विरोधियों पर भारी पड़ेगी, ऐसा आशीर्वाद हमें जनता दे रही है, जो हमारी पूंजी है।

कुल देवी अंबाबाई के दर्शन…

युति की घोषणा के बाद कोल्हापुर में रविवार को आयोजित पहली सार्वजनिक बैठक से पूर्व सीएम फडणवीस और शिवसेना चीफ राज ठाकरे ने कुल देवी अंबाबाई के दर्शन किए। इस मौके पर युवा सेना प्रमुख आदित्य ठाकरे, चंद्रकांत पाटील समेत बड़ी संख्या में भाजपा-शिवसेना के वरिष्ठ नेताओं के अलावा कार्यकर्ता उपस्थित रहे। दोनों नेताओं ने रविवार को महागठबंधन के खिलाफ प्रचार के लिए नारियल फोडऩे की शुरुआत कोल्हापुर से कर दी है।

Share